वी एस पी में राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस मनाया गया     14-Dec-2018     Read in English


आर आई एन एल-वी एस पी ने आज उक्कुनगरम में राष्ट्रीय ऊर्जा दिवस मनाया।  इस अवसर पर संयंत्र के प्रचालन में ऊर्जा संरक्षण के प्रति जागरूकता बढ़ाने हेतु सप्ताह भर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गये।  आर आई एन एल के निदेशक (वाणिज्य) श्री पी रायचौधरी आज समापन समारोह के मुख्य अतिथि थे।  इस अवसर पर श्री रायचौधरी ने उत्पादन लागत में कमी लाने हेतु कर्मचारियों को ऊर्जा संरक्षण के अभ्यास के साथ-साथ उसे अपनी आदत बनाने का सुझाव दिया।  उन्होंने कहा कि ऊर्जा संरक्षण इस्पात उत्पादन प्रक्रिया के प्रमुख मापदंडों में से एक है और आर आई एन एल ऊर्जा संरक्षण में महत्वपूर्ण सुधार लाते हुए ऊर्जा संरक्षण के लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु आगे बढ़ रहा है।उन्होंने उल्लेख किया कि माननीय इस्पात मंत्री ने आर आई एन एल को ऊर्जा संरक्षण में अग्रणी बताते हुए सराहना की, क्योंकि आर आई एन एल ने 120 मेगावाट गैस आधारित विद्युत संयंत्र की स्थापना की है, जो इस्पात उद्योग की एक अनोखी विशेषता है।  आर आई एन एल के निदेशक (वित्त) श्री वी वी वेणुगोपाल राव ने माना कि इस्पात उद्योग में उत्पादन लागत में ऊर्जा पर व्यय 53% होता है और उन्होंने ऊर्जा संरक्षण की आवश्यकता पर बल दिया।  उन्होंने कहा कि कर्मचारी दक्षतापूर्ण प्रचालन पर ध्यानकेंद्रित करें।  कार्यपालक निदेशक (संकर्म) प्रभारी श्री ओ आर रमणी, कार्यपालक निदेशक (ऊर्जा व युटिलिटीस) श्री रामानुजम ने अपने भाषण में इस्पात उत्पादन प्रक्रिया में ऊर्जा संरक्षण के महत्व का उल्लेख किया। उप महाप्रबंधक (ऊर्जा) श्री एस के नायक ने समारोह में सबका स्वागत किया।  तत्पश्चात, अतिथियों ने इस अवसर पर कर्मचारियों एवं स्कूली बच्चों के लिए आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किये। कार्यक्रम में वरिष्ठ अधिकारी, स्टील एक्जेक्यूटिव असोसिएशन, श्रमिक संघों, अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में कर्मचारी व स्कूली बच्चे उपस्थित थे।