सुश्री पी वी सिंधु, आर आई एन एल के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री पी के रथ ने उक्कुनगरम में एकजुटता दौड़ का शुभारंभ किया    18-Feb-2019     Read in English


आज उक्कुनगरम में 37वें आर आई एन एल गठन दिवस समारोह में वाइजाग स्टील अंबेसडर सुश्री पी वी सिंधु ने भाग लेकर समारोह की शोभा बढ़ाई।  समारोह में आर आई एन एल के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री पी के रथ, मुख्य सतर्कता अधिकारी श्री पी जे विजयकर, निदेशक (वाणिज्य) श्री पी रायचौधरी, निदेशक (कार्मिक) श्री के सी दास, निदेशक (वित्त) श्री वी वी वेणुगोपाल राव, विस्टील महिला समिति की अध्यक्ष महोदया श्रीमती शारदा रथ, सिंधु के पिता श्री पी वी रमणा ने भाग लिया। आर आई एन एल के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री पी के रथ, सुश्री पी वी सिंधु एवं आर आई एन एल के निदेशकों ने इस अवसर पर उक्कु स्टेडियम में पौधरोपण किया।  तत्पश्चात श्री रथ, सुश्री सिंधु, निदेशकगण एवं मुख्य सतर्कता अधिकारी ने वी एस पी के खेल विभाग द्वारा आयोजित एकजुटता दौड़ का शुभारंभ किया। उक्कुनगरम के स्कूली बच्चों, बड़ी संख्या में कर्मचारियों, स्टील एक्जेक्यूटिव असोसिएशन, श्रमिक संघों, विस्टील महिला समिति, विप्स के प्रतिनिधियों ने एकजुटता दौड़ में भाग लिया।  इस अवसर पर श्री रथ ने अपने संबोधन में कहा कि आर आई एन एल-वी एस पी उक्कुनगरम में हमेशा से खेल संबंधी मूलसंरचनात्मक विकास हेतु महत्व देता रहा है और बच्चों एवं कर्मचारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में आगे बढ़ने हेतु प्रेरित करता रहा है।  उन्होंने देश का नाम रोशन करने, खासकर वाइजाग स्टील के ब्रांड अंबेसडर के रूप में आर आई एन एल की ख्याति बढ़ाने हेतु सुश्री सिंधु की प्रशंसा की।  सुश्री सिंधु ने उक्कुनगरम में खेल संबंधी बेहतर मूलसंरचनात्मक विकास एवं खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने हेतु आर आई एन एल-वी एस पी को बधाई दी और कहा कि ‘मैं एक ब्रांड अंबेसडर के रूप में वाइजाग स्टील से जुड़े होने और राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय खेल कार्यक्रमों का प्रचार कार्य जारी करने में गौरव का अनुभव करती हूँ।‘ वाइजाग स्टील गुणवत्तापूर्ण उत्पादों के लिए पहचाना जाता है और उन्होंने माना कि यहाँ के कर्मचारी बहुत ही कर्मठ एवं निष्ठावान हैं।  तत्पश्चात सुश्री सिंधु ने स्कूली बच्चों के साथ एक प्रदर्शन मैच खेला और उक्कुनगरम के मल्टी-पर्पस हाल में उनसे बात-चीत की।  सुश्री सिंधु ने उन्हें कड़ी मेहनत एवं कौशल बढ़ाने का सुझाव दिया तथा उन्हें भविष्य में अपनी इच्छा के अनुसार खेलों में आगे बढ़ने हेतु लगातार अभ्यास करते रहने की सलाह दी।