ग्राहक आर आई एन एल की सफलता के सहभागी हैं: अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री पी के रथ    24-Apr-2019     Read in English


पिछले वित्त वर्ष के प्रभावी निष्पादन से प्रेरित होकर विशाखपट्टणम इस्पात संयंत्र की निगमित इकाई आर आई एन एल ने ग्राहकों के साथ अपने संबंधों को सुदृढ़ बनाने के उद्देश्य से आज उक्कुनगरम में ‘अखिल भारतीय ग्राहक बैठक’ कार्यक्रम आयोजित किया है।  इसमें देश भर से बड़ी संख्या में ग्राहकों, परेषण अभिकर्ताओं ने भाग लिया। बैठक का उद्घाटन करते हुए आर आई एन एल के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री पी के रथ ने व्यक्त किया कि देश में इस्पात की खपत बढ़ाने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा विभिन्न मूलसंरचनात्मक, निर्माण, रोड व रेल परियोजनाओं की शुरुआत की गई, जिससे देश में इस्पात की अत्यधिक माँग बढ़ी है। उन्होंने बताया कि आर आई एन एल अपने ग्राहकों को अत्यंत महत्व देता है और वे ‘आर आई एन एल की सफलता के सहभागी हैं।‘  श्री रथ ने आगे यह भी कहा कि आर आई एन एल द्वारा गुणवत्ता पर ध्यानकेंद्रित करते हुए ग्राहकों की अपेक्षानुसार सही उत्पाद मिश्र का उत्पादन किया जा रहा है, जिससे बाजार में कंपनी की अच्छी पैठ बन पाई है।  उन्होंने कहा कि आर आई एन एल द्वारा ग्राहकों के साथ अपने बेहतर संबंधों की स्थापना के उद्देश्य से विभिन्न ग्राहक-मैत्री नीतियाँ लागू की गईं।  साथ ही चालू वर्ष के दौरान मूल्यवर्धित इस्पात उत्पादन पर ध्यानकेंद्रित किया जा रहा है।  श्री रथ ने कहा कि आर आई एन एल वित्त ने वर्ष 2019-20 के दौरान 25,000 करोड़ रुपये के उच्चतम बिक्री कारोबार एवं 5.8 मिलियन टन बिक्री योग्य इस्पात उत्पादन प्राप्ति का लक्ष्य रखा है।  उन्होंने विश्वास जताया कि यह लक्ष्य आर आई एन एल के ग्राहकों के सक्रिय सहयोग से ही प्राप्त किया जा सकता है।  उन्होंने ग्राहकों को उत्पाद मिश्र में सुधार लाने के लिए स्पष्ट अभिप्राय व सुझावों के साथ आगे आने के लिए ग्राहकों का आह्वान किया।  आर आई एन एल के निदेशक (वाणिज्य) श्री पी रायचौधरी ने बताया कि आर आई एन एल द्वारा वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान 20,844 करोड़ रुपये के उच्चतम बिक्री कारोबार की प्राप्ति में ग्राहकों की महत्वपूर्ण भूमिका है।  उन्होंने कहा कि आर आई एन एल एकमात्र ऐसी कंपनी है, जो ग्राहकों के सुझावों एवं उनकीआवश्यकताओं की पूर्ति के आधार पर अपनी विपणन नीति बनाती है।  उन्होंने आगे बताया कि इससे आर आई एन एल की सफलता की यात्रा में ग्राहकों को विश्वास दिलाने के प्रति कंपनी की प्रतिबद्धता झलकती है।  आर आई एन एल ग्राहकों के साथ सुदृढ़ संबंधों को कायम करते हुए अपनी ब्रांड छवि बढ़ाने हेतु उनसे लगातार संपर्क कर रहा है।  उन्होंने कहा कि चालू वर्ष के दौरान मामलों के निपटान, स्टॉकयार्डों के अधिकतम उपयोग, प्रहस्तन सुविधा में सुधार लाने एवं स्टॉकयार्डों के कर्मचारियों की सुरक्षा आदि हेतु विशेष अभिकरण की तैनाती हेतु ध्यान दिया जाएगा।  उन्होंने यह भी कहा कि आर आई एन एल विभिन्न जगहों पर प्रेषण बढ़ाने के क्रम में तटीय परिवहन पर ध्यानकेंद्रित कर रहा है।  कार्यक्रम में निदेशक (कार्मिक) श्री के सी दास, कार्यपालक निदेशक एवं वरिष्ठ प्राधिकारी उपस्थित थे।  इससे पहले कार्यपालक निदेशक (विपणन) श्री एस के चक्रबर्ती ने अपने स्वागत भाषण में आर आई एन एल को ग्राहकों से प्राप्त सहयोग के लिए उन्हें धन्यवाद दिया और कंपनी की ब्रांड छवि और बढ़ाने से संबंधित पहलुओं का उल्लेख किया।  तत्पश्चात, ग्राहकों ने अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री पी के रथ, निदेशकों से विचार-विमर्श किया और अपेक्षित उत्पादों की आपूर्ति, गुणवत्ता पहलुओं आदि से संबंधित विभिन्न मामलों पर चर्चा-परिचर्चा की गई तथा देश भर में बेहतर पैठ बनाने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव दिये।  महाप्रबंधक (विपणन) श्री डी श्रीनाथ रेड्डी ने आभार निवेदन प्रस्तुत किया।