आर आई एन एल के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक ने सक्रियतापूर्ण एवं भागीदारीयुक्त संस्कृति पर बल दिया    04-May-2019     Read in English


गुणवत्ता चक्र सदस्यों, सुझाव दाताओं और 5 एस विभागों के प्रयासों को मान्यता प्रदान करने के लिए वार्षिक गुणवत्ता चक्र, सुझाव योजना और 5S (वर्क प्लेस मैनेजमेंट) के वार्षिक समारोह का आयोजन आज उकुनगरम के मल्टी परपज हॉल में किया गया। आर आई एन एल–वी एस पी के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री पी के रथ इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। निदेशक (वाणिज्य) एवं प्रभारी परियोजना श्री पी रायचौधरी एवं निदेशक (कार्मिक) श्री के सी दास भी इस अवसर पर उपस्थित थे। इस अवसर पर बोलते हुए, श्री पी के रथ ने कर्मचारियों का अपने कार्य क्षेत्रों में उत्कृष्टता हासिल करने हेतु अपने भीतर के कौशल को निखारने आह्वान किया और संगठन की छवि बढ़ाने व अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित करते हुए रचनात्मकता प्रदर्शित करके आर आई एन एल को और ऊँचाइयों पर ले जाने पर बल दिया| उन्होंने कहा कि कंपनी प्रौद्योगिकी समेकन के महत्वपूर्ण चरण में है और सफलता काफी हद तक इस बात पर निर्भर करेगी कि हम नई तकनीकों को कैसे अपनाते और आत्मसात करते हैं। उन्होंने आर आई एन एल समूह के अनुभव का उपयोग करने की आवश्यकता पर बल दिया, जिसे इस्पात उद्योग में अत्यधिक नवीनता और सक्षमता के लिए जाना जाता हैं। उन्होंने माना कि गुणवत्ता चक्र जैसे छोटे समूह की गतिविधियों से रचनात्मकता निखारती है और ज्ञान के साथ जुड़कर कंपनी की जटिलतम समस्याओं को सुलझाने में मदद करती है। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि कर्मचारियों की क्षमता का उपयोग से संगठन का त्वरित स्थिरीकरण, अपव्यय घटाने और समस्याओं को हल करने के नए तरीकों को विकसित करने का लाभ मिलेगा। आर आई एन एल निदेशक (कार्मिक),श्री के सी दास, ने प्रबंधन सेवा विभाग को एक प्रतिस्पर्धी तरीके से सबसे अच्छा प्राप्त करने के लिए लोगों को सही दिशा में उन्मुख करने हेतु महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर उन्होंने विजेताओं को संगठन का नाम और ख्याति बढ़ाने के लिए बधाई दी। श्री पी के रथ ने सुझाव योजना के तीन सृजनशील लोगों, वी आर पी और आई सी क्यू सी सी पुरस्कार विजेता टीमों को सम्मानित किया। श्री पी रायचौधरी, निदेशक (वाणिज्य) और प्रभारी प्रोजेक्ट्स, श्री के सी दास, निदेशक (कार्मिक), श्री ओ आर रमणी, कार्यपालक निदेशक (संकर्म) प्रभारी एवं श्री आर नागराजन, कार्यपालक निदेशक (परियोजना) प्रभारी ने श्रेष्ठतम सुझावों, श्रेष्ठतम 5S विभागों, समन्यवयकों, सुझाव मूल्यांकनकर्ताओं, सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता चक्र टीम, सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता चक्र फेसिलिटेटर, सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता चक्र लीडर को ज्ञापिकाएं / प्रमाण पत्र/ ट्राफियां वितरित की गईं| वर्ष 2017-18 के दौरान कुल 4412 गुणवत्ता चक्र परियोजनाएं कार्यान्वित की गईं, जिसके परिणामस्वरूप रु. 21.93 करोड़ रुपए और इसी अवधि के दौरान 20,364 सुझावों के फलस्वरूप 11.39 करोड़ रुपये की बचत हुई है। 5S के अनुपालन हेतु पूरे संगठन का पुन: प्रमाणन किया गया। कार्यकारी निदेशकगण, महाप्रबंधकगण, विभागाध्यक्षगण, वरिष्ठ अधिकारी, श्रमिक संघों के प्रतिनिधि, एससी/एसटी एसोसिएशन, सी, विप्स, सुविधादाता, सदस्य और को-ऑर्डिनेटर भी इस समारोह में शामिल हुए। समारोह का संचालन प्रबंधन सेवा विभाग द्वारा किया गया था।